Kash Shayari Hindi | काश शायरी हिंदी में

Kash Shayari Hindi

  • मैन बहुत देर करदी थी
    दिल की बात कहने में
    मैं नहीं जानता था कि
    उसके दिल में कोई और है
  • क्या कमी थी मेरे प्यार में
    जो तूने ऐसा सिला दिया
    था बरसों का प्यार हमारा
    तूने एक पल में भुला दिया
  • kash koi khushio ki dukan hoti, aur muje uski pahchan hoti
    kharid leta apke kia har khushi, chahe uski kimat meri jaan hoti
  • વ્યથાની આગના સીમાડા નથી હોતા.
    આંસુ પકવવાના નિભાડા નથી હોતા.
    અેજ તો દુનિયાના લોકોને ખબર નથી હોતી કે જ્યારે દિલ બળે છે ને ત્યારે તેના ધુમાડા નથી હોતા.
  • काश मेरा घर तेरे घर के करीब होता,
    बात करना न सही देखना तो नसीब होता.
  • Maine Aaj bahut Roya Hai in Tanhai Raaton mein….?
    Kash ki tum yah baat samajh paati ki koi Roya hai mere liye in Tanhai raaton mein
  • Kash Ki Tum Humse Mile Na Hote to,
    Shayad hame aap se Mohabbat hui na hoti
  • Main Bhi Kitna Ajeeb Hoon Na Tu Jab Jab Rooth Jaati Hai Main Tujhe Mana Leta Hoon sirf Ye Soch kar ki tu Hi Hai Meri Humsafar lekin main bhool gaya tha ki Tu Kisi Aur Ki Hai
  • Kash Mujhe Itna Pata Hota Bas Itna Ki Mohabbat Mein Anjaam Bura hota hai tu Shayad main Tumse Dil Lagane Ki Koshish nahi karta
  • Ya Allah Ya Mohabbat Ki Kaisi Dastoor Hai Jo Mera Yaar Hai Wo Mujhse dur hai Chand Ko guroor Hai Kyunki uske paas Noor Hai Hum Kis Par Kare guroor Kyunki Hamara Chand hi Mujhse Dur hai
  • उसकी बेरुखी यादों से हमें सुकून मिलता है
    उसकी गाली भरी बातों से हमें जुनून मिलता है
    अरे तू चाहे जितना सितम ढा ले मुझे सताने का
    जां है तू मेरी बस यूं ही सदियों तक मुस्कराए इसिसे मुझे मेरा सारा जहां मिलता है
  • Na sikwa hai na gila hai,
    Khush hu zindgi jo tujhse mila hai
  • काश फुरसत में उन्हें भी ये ख्याल आ जाये,
    कि कोई याद करता है उन्हें ज़िन्दगी समझकर.

Kash Main Emotional Shayari in Hindi

  • हंसाकर क्यूं रुला देती है दुनिया,,
    जाने के बाद क्यूं  भुला देती है दुनियां
    जिंदगी में क्या कोई कमी बाकी थी,,
    जो मरने के बाद भी जला देती है दुनिया
  • Kash Ki Main Tujh Se Itna Dur Chala Jaun Ki Tu Mujhe Awaz De Aur Main Laut kar na aa Paon
  • फूल है गुलाब का सुगंध लीजिए,
    प्यार है गरीब का इंकार मत कीजिए
  • ओ मोहब्बत भि तेरि थि। ओ नफरत भि तेरि थि ….ओ अपनाने और ठुकराने कि आदत भि तेरि थि ..
    मै अपने बाफाका इनसाफ किसे मागता….क्यकि ओ सहर भि तेरि थि और ओ आदालत भि तेरि थि …..
  • फूल है गुलाब का सुगंध लीजिए,
    प्यार है गरीब का इंकार मत कीजिए
  • Agar gam mohabbat pe habi na hota,
    to khuda ki kasam mai Sharabi na hota
  • Na sikwa hai na gila hai,
    Khush hu zindgi jo tujhse mila hai
  • काश वो हमारी नज़रों के सामने होते,
    कम से कम हम उन्हें बार बार तो देखते,,,
  • Tere Pyar Ko kya naam Du,
    Ki mere jabape tera naam Aye
  • काश फुरसत में उन्हें भी ये ख्याल आ जाये,
    कि कोई याद करता है उन्हें ज़िन्दगी समझकर.
  • बहुत असर रखता है, हर लफ्ज़ उसकी जुबान का,
    ए काश के वो मुझसे मिलने की दुआ मांगे.
  • काश कभी तुम समझ पाओ इस प्यार के जुनून को,
    हैरान रह जाओगे मेरे दिल में अपनी कदर देख कर.

Kash Love Shayari in Hindi WhatsApp

  • काश तू मुझसे बस इतनी सी मोहब्बत निभा दे,
    जब मै रुठु तो तू मुझे मना ले.
  • काश कोई लड़की मुझे प्यार करती.
  • काश तुम समझ पाते मेरे अनकहे अल्फ़ाज़ों को,
    तो ये एहसास स्याही और काग़ज़ के मोहताज ना होते.
  • मैं हँसता हूँ तो बस अपने ग़म छिपाने के लिए,
    और लोग देख के कहते है काश हम भी इसके जैसे होते.
  • बदलती रहती हैं हकीकतों की बारिश वक्त के साथ
    काश उम्मीदों के घरौंदे समझ के पत्थरों से बनातें.
  • काश की कोई टुटा हुआ तारा ही दिख जाये
    दुआ माँगनी है मुझे उस बेवफा की सलामती की.
  • काश उन्हें चाहने का अरमान नही होता,
    मैं होश में होकर भी अंजान नही होता,
    ये प्यार ना होता, किसी पत्थर दिल से,
    या फिर कोई पत्थर दिल इंसान ना होता।
  • काश तुम मुझे एक खत लिख देते,
    मुझमे क्या-क्या थी कमी यह तो लिख देते,
    मेरे दिल से तुमने नफरत क्यूँ की,
    नफरत की ही मुझे कोई वजह तो लिख देते।
  • उसकी हसरत को मेरे दिल में लिखने वाले,
    काश उसे भी मेरे नसीब में लिखा होता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *